मंगलवार, 24 अप्रैल 2012

आज का प्रश्न-273question no-273

आज का प्रश्न-273question no-273
प्रश्न-273: किस गणितज्ञ ने काफी अध्ययन के बाद कहा था कि "गणित नौजवानों का खेल है" उन्होंने ऐसा क्यूँ कहा था? 
उत्तर: यह श्रीनिवास रामानुजनम के गुरुजी जी एच हार्डी का कथन है "Young men should prove theorems, old men should write books." 
रामनाजुन ने 1912-13 के दौरान खुद विकसित किए अपनी 120 प्रमेयों की एक लम्बी सूची को अच्छे कागजों पर लिखकर एक पत्र के साथ कैंब्रिज विश्वविद्यालय के तीन प्रतिष्ठित प्रोफेसरों को भेजे, जिनमें से जी. एच. हार्डी (G.H.HARDY) ने रामानुजन के काम की तारीफ की और अपने अधीन अध्ययन के लिए उन्हें कैंब्रिज बुलाया। ये पत्र हार्डी को सुबह नाश्ते के टेबल पर मिले। इस पत्र में किसी अनजान भारतीय द्वारा बहुत सारे बिना उत्पत्ति के प्रमेय लिखे थे, जिनमें से कई प्रमेय हार्डी देख चुके थे। पहली बार देखने पर हार्डी को लगा कि रामानुजन की 10 पन्नों वाली गणित के 10 सूत्रों से भरी चिठ्ठी सब बकवास है। उन्होंने इस पत्र को एक तरफ रख दिया और अपने कार्यों में लग गए परंतु इस पत्र की वजह से उनका मन अशांत था। इस पत्र में बहुत सारे ऐसे प्रमेय थे जो उन्होंने न कभी देखे और न सोचे थे। उन्हें बार-बार यह लग रहा था कि यह व्यक्ति (रामानुजन) या तो धोखेबाज है या फिर गणित का बहुत बड़ा विद्वान। रात को 9 बजे हार्डी ने अपने एक शिष्य लिटिलवुड के साथ एक बार फिर इन प्रमेयों को देखा और आधी रात तक वे लोग समझ गये कि रामानुजन कोई धोखेबाज नहीं बल्कि गणित के बहुत बड़े विद्वान हैं, जिनकी प्रतिभा को दुनिया के सामने लाना आवश्यक है। वे अपने साथी लिटिलवुड और पत्नी एलिस के साथ मद्रास जा रहे एक युवा प्राध्यापक नेविल की मदद लेकर रामानुजन के बारे में और जानकारी जुटाने तथा अगर सम्भव हो, उन्हें कैम्ब्रिज बुलाने के लिए तत्पर हो उठते हैं। हार्डी का यह निर्णय एक ऐसा निर्णय था जिसने न केवल उनकी और उनके दोस्तों की बल्कि पूरे गणित-इतिहास की ही धारा बदल डाली।
"किसी भी गणितज्ञ को ये नहीं भूलना चाहिए की गणित युवा लोगों का खेल है. इसका सबसे आसान उदहारण यही है की रोयल सोसाइटी में गणितज्ञों की औसत उम्र सबसे कम है. और भी कई उदहारण लिए जा सकते हैं न्यूटन ने ५० की उम्र में गणित छोड़ दिया. वे मानते थे की ४० वर्ष की उम्र के साथ ही उनकी मौलिक रचनात्मकता के महानतम दिन ख़त्म हो गए...
...गैल्वास की मृत्यु २१ साल की उम्र में हो गई. रामानुजन ३३ में और रीमान ४० की उम्र में चल बसे. कुछ लोगों ने इस उम्र के बाद भी काम किया है जैसे की गॉस ने डिफेरेंसिअल जियोमेट्री तब लिखी जब वो ५० साल के थे, लेकिन इसका विचार उन्हें १० साल पहले ही आ गया था. मेरी नज़र में कोई बड़ी गणितीय खोज ४० की उम्र के बाद किसी ने नहीं की. और अगर किसी की इस उम्र के बाद गणित गणित में रूचि कम हो जाती है तो इससे न तो उसकी न गणित की ही कोई क्षति होने वाली है." --जी एच हार्डी
“I had better say something here about this question of age, since it is particularly important for mathematicians. No mathematician should ever allow himself to forget that mathematics, more than any other art or science, is a young man's game. To take a simple illustration at a comparatively humble level, the average age of election to the  Royal Society is lowest in mathematics. We can naturally find much more striking illustrations. We may consider, for example, the career of a man who was certainly one of the world's three greatest mathematicians. Newton gave up mathematics at fifty, and had lost his enthusiasm long before; he had recognized no doubt by the time he was forty that his greatest creative days were over. His greatest idea of all, fluxions and the law of gravitation, came to him about 1666 , when he was twentyfour—'in those days I was in the prime of my age for invention, and minded mathematics and philosophy more than at any time since'. He made big discoveries until he was nearly forty (the 'elliptic orbit' at thirty-seven), but after that he did little but polish and perfect.

Galois died at twenty-one, Abel at twenty-seven, Ramanujan at thirty-three, Riemann at forty. There have been men who have done great work a good deal later; Gauss's great memoir on differential geometry was published when he was fifty (though he had had the fundamental ideas ten years before). I do not know an instance of a major mathematical advance initiated by a man past fifty. If a man of mature age loses interest in and abandons mathematics, the loss is not likely to be very serious either for mathematics or for himself.”
― G.H. Hardy, A Mathematician's Apology 
आशीष श्रीवास्तव जी फेसबुक मित्रों का बहुत बहुत धन्यवाद
सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद

प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर



2 टिप्‍पणियां:

दर्शन कौर 'दर्शी' ने कहा…

विज्ञान और गणित से सम्बंधित प्रश्न हैं ??? और विज्ञान सबका फेवरेट सब्जेक्ट कहाँ होता हैं ? और मेथ्स को देखकर तो अच्छे -अच्छे को नींद आ जाती हैं .....:)
आप ही बताए इसका जवाब .....?

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

श्रीनिवास रामानुजनम के गुरुजी जी एच हार्डी का कथन है "Young men should prove theorems, old men should write books."
ऐसा क्यों कहा था यह पता नही, आप ही बता दे!