बुधवार, 15 फ़रवरी 2012

आज का प्रश्न-206,207 question no-206,207

आज का प्रश्न-206,207 question no-206,207
प्रश्न-206 : किस वैज्ञानिक/गणितज्ञ के सम्मान में कम्प्यूटर की एक भाषा (language) का नाम रखा गया है?  
उत्तर : ब्लेज़ पास्कल-दबाव की SI इकाई एवं एक कम्प्यूटर भाषा  के सम्मान में कम्प्यूटर की एक भाषा (language)का नाम इनके सम्मान में पास्कल रखा गया है।१६४२ में इन्होंने अपने पिता का गणना का काम आसान करने के लिए एक मशीनी गणक बनाया, जिसे आज "पास्कल गणक" कहा जाता है। द्रव्य विज्ञान के जरिये इन्होंने हाइड्रॉलिक प्रेस और सिरिंज का आविष्कार किया।





प्रश्न-207 : गणित में नोबल पुरूस्कार नहीं दिया जाता पर किस महान गणितज्ञ को साहित्य में नोबल पुरूस्कार मिला है? 
उत्तर : बर्ट्रेंड रसेल-महान गणितज्ञ को साहित्य में नोबल पुरूस्कार मिला है सन् 1950 में इन्हें साहित्य का "नोबेल" पुरस्कार प्रदान किया गया। इन्होंने 40 ग्रंथों का प्रणयन किया था। "इंट्रोडक्शन टु मैथेमेटिकल फिलॉसॉफी", आउटलाइन ऑव फिलॉसॉफी" तथा मैरेज एंड मोरैलिटी" इसकी महत्वपूर्ण कृतियाँ हैं।
बट्र्रेंड रसेल "रायल ह्यूमन सोसाइटी" के सदस्य रहे। प्रथम विश्वयुद्ध के समय अपनी शांतिवादी नीतियों के कारण इन्हें जेलयात्रा करनी पड़ी। महायुद्ध की समाप्ति के पश्चात् "बोल्शेविज्म" पर एक ग्रंथ की रचना की। ये पेकिंग, शिकागो, हॉरवर्ड और न्यूयार्क के विश्वविद्यालयों में दर्शनशास्त्र के प्राध्यापक रहे। ये ब्रिटेन की "इंडिया लीग" के अध्यक्ष चुने गए थे। अत: भारत के स्वतंत्रतासंग्राम से भी इनका निकट का संबंध था। अपनी इच्छा के विपरीत ये सदैव किसी न किसी विवाद या आंदोलन से संबंधित रहे। वृद्धावस्था में भी ये परमाणु-परीक्षणविरोधी आंदोलनों के सूत्रधार थे। "विवाह और नैतिकता" नाम की इनकी पुस्तक लंबी अवधि तक विवाद का विषय बनी रही। द्वितीय महायुद्ध की विभीषिका के फलस्वरूप गणित और दर्शन के अतिरिक्त समाजशास्त्र, राजनीति, शिक्षा एवं नैतिकता संबंधी समस्याओं ने भी इनकी चिंतनधारा को प्रभावित किया। ये विश्वसंघीय सरकार के कट्टर समर्थक थे। इन्होंने पाप की परंपरावादी गलत धारा का खंडन कर आधुनिक युग में पाप के प्रति यथार्थवादी एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण का प्रतिपादन किया।

आशीष श्रीवास्तव जी ,   ePandit जी  का और फेसबुक मित्रों का बहुत बहुत धन्यवाद 
सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर हरियाणा  
 

2 टिप्‍पणियां:

ePandit ने कहा…

पहले सवाल का जवाब है जी पास्कल भाषा का नाम गणितज्ञ ब्लेज पास्कल के सम्मान में रखा गया है। बी॰ऍससी॰ प्रथम वर्ष में पास्कल पढ़ी थी।

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

206 : ब्लेज पास्कल
207 : बर्नार्ड रसेल - वर्तमान मे लोग बर्नार्ड को एक लेखक एक दार्शनिक के रूप मे जानते है।