गुरुवार, 21 जुलाई 2011

आज का प्रश्न-२३ question no.23

आज का प्रश्न-२३ question no.23



**********************************
Qus.no.23 :- आज का प्रश्न क्रिकेट से ..
क्या क्रिकेट मे अम्पायर के निर्णयों मे तकनीक का अत्याधिक प्रयोग क्रिकेट मे खेल भावना का दमन तो नहीं कर रहा है एक पंक्ति का जवाब अवश्य लिखे?  
   
*********************************



 उपर बाईं तरफ हैडर के नीचे मनपसंद गीत संगीत भी कभी कभी पोस्ट किया जाता है सुने शायद आपको भी पसंद आये.
 
दर्शन बवेजा

उत्तर : इस खेल मे समय के साथ साथ बहुत सी तकनीकों का समावेश किया गया है जब वनडे शुरू हुए तब भी शोर मचा और जब 20-20 शुरू हुए तब भी. अम्पायर का एक गलत निर्णय खेल का रुख पलट देता है नाटआउट को यदि आउट दे दिया जाए तो भी तो न्याय नहीं होता और जिस प्रकार अंपायरिंग मे भी बेईमानी का शोर रहता है उस लिहाज़ से क्रिकेट मे अम्पायर के निर्णयों मे तकनीक का  प्रयोग जायज़ है ये कोई नईं बात नहीं है क्रिकेट के लिए .
आशीष श्रीवास्तव, अन्तर सोहिल,  कविता रावत,राज भाटिय़ा जी  व फेस बुक मित्रों का जवाब देने के लिए शुक्रियां.
सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
 प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर हरियाणा  


6 टिप्‍पणियां:

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

Prakash Satya yes, it's create a bad impression on both team members....
...
Sanjay Sharma khel bhawna ke saath khel ki originality bhi khatam ho rahi hai D B sahab

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

खेलो मे तकनिक का प्रयोग नही होना चाहीये! ये खेल है कोई युद्ध नही!

अन्तर सोहिल ने कहा…

मुझे तो अपने देश में क्रिकेट का ही अत्याधिक प्रयोग अन्य खेलों से दूर करने का कारण लग रहा है।
क्रिकेट केवल और केवल सट्टेबाजी का खेल लगता है।

प्रणाम

कविता रावत ने कहा…

meri hisab se तकनीक का प्रयोग mein khel bhawana ka dhyan rakha jaay to koi harz nahi!

राज भाटिय़ा ने कहा…

रोला रपा...

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

फेस बुक पर
Prakash Satya yes, it's create a bad impression on both team members....
..
Sanjay Sharma khel bhawna ke saath khel ki originality bhi khatam ho rahi hai D B sahab
..
Charisma Thakur bilkul daman bhi kar raha hai aur khel bhawna ke sthan par khel rajneeti ko badhava de raha hai.........!!!!!!!!!!!