बुधवार, 16 मई 2012

आज का प्रश्न-293 question no-293

आज का प्रश्न-293 question no-293
प्रश्न-293 : किस गणितज्ञ ने अपने जीवन के अंतिम तीन दशक पागलखाने में गुज़ारे ?
उत्तर :  फ्रांसीसी गणितज्ञ आन्द्रे ब्लोच (André Bloch)
आन्द्रे ब्लोच फ़्रांसिसी गणितज्ञ थे। मिश्रित फलन के सिद्धांतों पर दिया गया उनका 'ब्लोच प्रमेय' के के नाम से जाना जाता है। आन्द्रे ब्लोच के बारे में कई किस्से मशहूर हैं। प्रसिद्ध गणितज्ञों के साथ उनका पत्राचार बहुत मशहूर है पर वो कभी किसी से मिले नहीं। गणितज्ञ जोर्ज पोल्या ने जब उन्हें ज्यूरिख बुलाया तो उन्होंने ये कह दिया कि वो इस स्थिति में नहीं कि वो ज़्यूरिख आ सकें। गणितज्ञ जोर्ज पोल्या उनके बताए पते पर पँहुचे तो पता चला कि वो एक पागलखाना था। जोर्ज पोल्या उस पागलखाने वापस से लौट आये। यहूदी परिवार में जन्मे आन्द्रे ब्लोच अपनी पहचान छुपा कर शोधकार्य प्रकाशित करवाते रहे वो पागलखाने कैसे पहुंचे इस के बारे में यह विख्यात है कि उन्होंने अपने मकान मालकिन और सास की हत्या कर दी थी क्योंकि वो बहुत शोरशराबा करती थी और इससे उनके काम में बाधा होती थी।
कईं और भी किस्से मशहूर हैं उनके मानसिक रोगी हो जाने या हत्यारा होने पर उन्हें मानसिक रोगी बताकर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। 24 वर्ष की उम्र से लेकर 1948 में मृत्यु तक वो मानसिक अस्पताल/पागलखाने में रहे। फ्रेंच एकादमी ऑफ साइंस ने उन्हें 1948 के बेक्वेरेल पुरस्कार के लिए चुना था जो उन्हें मरणोपरांत प्रदान किया गया। उच्च औपचारिक शिक्षा के आभाव में भी आन्द्रे ब्लोच ने गणित की कई शाखाओं में शोधकार्य किया और कई नामो के साथ शोधपत्र भी छपे। समाज से पूरी तरह अलग-थलग रहने के बावजूद वे कुछ किताबों और पत्रों के दम पर वो गणित के विकास के लिए काम करते रहे। आन्द्रे ब्लोच अपने पत्रों में अपने पते के नाम पर बस मकान संख्या और गली का नाम दिया करते थे और वो मकान नंबर वास्तव में एक मानसिक अस्पताल/पागलखाने का पता था। आन्द्रे ब्लोच आजीवन कभी किसी गणितज्ञ से नहीं मिला था। पारिवारिक, धार्मिक उन्माद के नाम पर तत्कालीन समाज में कई नरसंहार हुए हैं। आन्द्रे ब्लोच ने पता नहीं किस तर्क से अपने परिवार वालों की हत्या कर दी। इनमे से कोई भी तर्क मानव हत्या के लिए नहीं उकसा  सकता है। आज तक ये एक रहस्य ही है कि ऐसा क्या था जिसने आन्द्रे ब्लोच को ऐसा अपराध करने को प्रेरित किया।
सिमित साधनों के होते हुए भी आन्द्रे ब्लोचकी गणित सेवा को भुलाया नही जा सकता है।
आशीष श्रीवास्तव जी फेसबुक मित्रों का बहुत बहुत धन्यवाद
सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर

1 टिप्पणी:

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

फ्रांसीसी गणितज्ञ आन्द्रे ब्लोच (André Bloch)