गुरुवार, 15 सितंबर 2011

आज का प्रश्न-७९ question no.79

आज का प्रश्न-७९  question no.79




**********************************
 Qus.no 79 : गुफा मानव की ओसत  आयु अधिक थी या आज के आधुनिक मानव की व क्यों?    
**********************************

उत्तर : आधुनिक मानव की ओसत आयु अधिक है .
गुफा मानव का खान पान उन्नत नहीं था कच्चा मांस और जंगली फल कंद-मूल खाता था जिस कारण कच्चे मांस से उसे संक्रमण का जोखिम रहता था और प्राक्रतिक शत्रु अधिक थे और स्वजातीय संघर्ष भी बहुत बड़े जोखिमों मे से एक था इस कारण गुफा मानव की ओसत आयु मात्र 30 वर्ष मानी गयी है.
भोजन को पका कर खाने का ज्ञान प्राप्त होते ही जीवाणुओं के संक्रमण का जोखिम कम हुआ पाककला विकसित होने से कच्चे भोजन की अपेक्षा पका भोजन सुपाच्चय होता है.
बाद मे वो दौर आया जब चिकित्सा और भोजन बनाम ओषधि की समझ विकसित हुई पाककला और उन्नत हुई तो मानव की ओसत आयु मे इजाफा हुआ परन्तु व्याधियाँ और बिमारिया अब भी एक जोखिम थी परन्तु आज संतुलित भोजन और तुरत चिकित्सा सहायता से मानव की ओसत आयु 70 वर्ष लगभग हो गयी है. 
आशीष श्रीवास्तव जी का उत्तर सही है 
श्री राज भाटिया जी की बाट भी सही है .
फेसबुक पर Ashutosh Rai जी बा जवाब सही है.
फेसबुक साथियों  का धन्यवादसभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर हरियाणा              

2 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

गुफ़ा मानव का पता नही लेकिन पहले जमाने मे( हमारे दादा जी के ) लोगो की उम्र लम्बी होती थी, ओर बिमारियां कम होती थी,मेरे दादा जी १०५ साल की उम्र मे गुजरे, कभी बिमार नही हुये थे, रात को सोये तो सोये ही रहे....

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

आधुनिक मानव की !

गुफा मानव के पास चिकित्सा, जानवरो से लड़ने के साधन उपलब्ध नही थे।