मंगलवार, 30 अगस्त 2011

आज का प्रश्न-६३ question no.63

आज का प्रश्न-६३  question no.63


**********************************
Qus.no 63 : चूहा कागज,गत्ता,प्लास्टिक आदि को क्यों कुतरता रहता है ?  
**********************************
उत्तर : चूहा मानव का सबसे बड़ा अनाजभक्षी प्रतिद्वंद्वी है चाहे खेतों मे हो या घरों मे ,इसने मनुष्य को बहुत दुखी किया है प्रतिवर्ष 3लाख से ज्यादा आग लगने की घटनाएं इन के कुतरने के कारण होती हैं इनके दांत बड़ी तेजी से बढते हैं यदि यह  कुतरे नहीं तो वे 8 से 13 cm लंबे हो जायेंगे और इनका चलना फिरना मुश्किल हो जाएगा इसलिए चूहें बेवजह जहां कोई ऐसा  सामान देखा जो थोड़ा सख्त हो अपने दांत घिसने शुरू कर देते हैं चाहे उस मे इन का भोजन हो या ना हो.चुहां जंगल मे अधिकतम 6 माह जिन्दा रहता है जबकि घरों मे व प्रयोगशालाओं मे 2वर्ष तक ज़िंदा रह सकता है. इसकी प्रजनन क्षमता गजब होती है मादा एक दिन छोड़ कर रोज अंडोत्सर्ग करती है अपने छोटे से जीवन काल मे एक मादा मिनिमम 6 ओसत से 60 बच्चों को जन्म देती है और दो माह की होते ही प्रजनन के लायक हो जाती है.
राम बचाए इन से ....
अंतर सोहिल जी, राज भाटिया जी, आशा जी, कुमार राधारमण जी, प्रकाश  गोविन्द जी  ,आशीष श्रीवास्तव जी,  फेसबुक पर साथियों बला. ललित शर्मा जी अजय कुमार झा, नीरज शर्मा ,विशाल सावंत, ओम प्रकाशजी , साहिल कपूर, डा. सौरभ का और गूगल + के साथियों का उत्साह बढ़ाने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद   

सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर हरियाणा      
     

8 टिप्‍पणियां:

कुमार राधारमण ने कहा…

लोगबाग पहले ही से चूहे से खौफ खाते हैं। आपने और डरा दिया।

राज भाटिय़ा ने कहा…

आज मजक का मुड बिलकुल नही, इस चित्र को ध्यान से देख कर लगता हे की इस के सामने वाले दांत नुकिले ओर बडे हे, शायद समय समय से बढते भी हो, इस कारण इस के मुहं मे खुजली होती हो, या इसे इन दांतो के कारण तकलीफ़ होती हो, ओर यह दांतो को घिसने के लिये अपना कर्म करता हो, यानि हर समय कागज,गत्ते, प्लास्टिक ओर कपडे कुतरता हो....

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

इतने दिलचस्प सवाल कहाँ से ला रहे हैं सर जी ?
-
-
-
राज भाटिया जी एक बार फिर फर्स्ट डिवीजन में पास !

आशीष श्रीवास्तव ने कहा…

चुहा महाशय मजबूर होते है ! उनके दांत जन्म से लेकर मृत्यु तक बढते रहते है, दांतो की लंबाई को नियंत्रण मे रखने वे उसका निरंतर प्रयोग करते रहते है।

अन्तर सोहिल ने कहा…

चूहे घिस-कुतर कर अपने दांत छोटे ना करे तो यही दांत इसकी मौत बन जायेंगें।

प्रणाम

आशा ने कहा…

चूहे के दांत बहुत तेजी से बढते हैं और बहुत पैने होते हैं इस लिए वह अपने दांत से हर चीज कुतरता रहता है |
आशा

ePandit ने कहा…

बढ़िया जानकारी दी मास्साब, इसका पता नहीं था। चूहे के दाँतों की सजा हम लोगों को भुगतनी पड़ती है।

आपने जहाँ लिखा है राम बचाये इन से, उसके नीचे नाम दिये हैं। सीधे वहीं से पढ़ना शुरु करें तो यों लगता है जैसे राम नीचे लिखे लोगों से बचाये। :)

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

हा हा ...
रादौर सिंडिकेट बैंक के बाहर एक बोर्ड लगा है जिस पर लिखा है
सोमवार से शुक्रवार १० से ५ बजे
शनिवार १० से १२ बजे तक
बैंक मे अस्त्र लेकर आना मना है