सोमवार, 1 अगस्त 2011

आज का प्रश्न-३४ question no.34

आज का प्रश्न-३४ question no.34

**********************************

Qus.no 34 : हाइड्रोजन का उष्मीयमान सबसे अधिक है फिर भी घरेलू इंधन के रूप मे इस का प्रयोग नहीं किया जा सकता क्यों? 

*********************************




उपर बाईं तरफ हैडर के नीचे मनपसंद गीत संगीत भी कभी कभी पोस्ट किया जाता है सुने शायद आपको भी पसंद आये.  दर्शन बवेजा 
उतर :- हाइड्रोजन की ज्वलन सीमा अधिक है और यह आसानी से जलने के साथ-साथ विस्फोटक गुण भी रखती है. अत: रसोईघरों में या अन्य घरेलू साधानों में इसके उपयोंग पर सुरक्षा के लिए प्रश्न चिन्ह लगाये जा सकते हैं. परंतु इस विषय में भी काफी परीक्षण कियें गये हैं। और यह सिध्द हो गया है कि यदि उचित सावधानियां बरती जायें तो हाइड्रोजन का बिना किसी खतरे के इस्तेंमाल किया जा सकता है.
हाईड्रोजन एक बहुत अच्छा ऊर्जा स्त्रोत हो सकता है क्योंकि यह पृथ्वी पर जल के रूप में अनंत मात्रा में विद्यमान है. इस जल से असीमित मात्रा में हाईड्रोजन पैदा की जा सकती है. यह उर्वरक उद्योग में अमोंनिया बनाने के लिए काफी मात्रा में उत्पादित की जा रही है.
हाइड्रोजन में भविष्य में तरल जीवाश्म ईंधानों को प्रतिस्थापित करने की संभावना विद्यमान है. हाल के वर्षों में भारत सहित अनेक देशों द्वारा एक वैकल्पिक ईंधान के रूप में हाइड्रोजन के विकास में महत्वपूर्ण प्रगति देखी गई हैं.हाइड्रोजन को यदि भविष्य की ऊर्जा कहा जाये तो अतिसंयोक्ति नहीं होगी.हाइड्रोजन में निहिज संभावनाओं को ध्यान में रखकर वैज्ञानिक इसके आर्थिक पहलू पर भी अधययन कर रहे हैं.निकट भविष्य में जल से बिजली बनाने के लिए और भी सरल तकनीकें खोजी जायेंगी और तब हाइड्रोजन सार्वभौम सस्ती ओर प्रदूषण रहित ऊर्जा के रूप में प्रचलित हो जायेगी.

सभी टिप्पणी कर्ताओं का जी धन्यवाद
प्रस्तुति: सी.वी.रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर हरियाणा

6 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

क्योकि हाइड्रोजन परॉक्साइड भाप हाइड्रोकार्बनों जैसे ग्रीज़ों से मिलकर संवेदनशील संपर्क विस्फोटक बना सकती है
श्लेष्म झिल्लियों और त्वचा में जलन उत्पन्न कर सकते हैं
सांद्र हाइड्रोजन परॉक्साइड यदि कपड़ों (या अन्य ज्वलनशील वस्तुओं) पर गिर जाती है, तो पानी का तब तक वाष्पीकरण करती है जब तक कि सांद्रता पर्याप्त ताकत की न हो जाए, और वह वस्तु स्वतः जलने लगती है

Rajeev Bharol ने कहा…

उष्मीयमान अंग्रेज़ी में किसे कहते हैं..

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

calorific value

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

@भाटिया सर जी विज्ञान का इतिहास ही बदल दिया आपने हा हा हा

राज भाटिय़ा ने कहा…

कभी कभी कुछ अलग भी होना चाहिये जी :)

AMAZING SCIENCE EXPERIMENT ने कहा…

because hydrogen burn 3 time faster than propane/LPG its extraction and storage is difficult and it burn with pop sound and it burn itself while contact with platinum ,Mg etc .
thats why we not use as a fuel now .